जनपथ न्यूज डेस्क
Edited by: राकेश कुमार
मई 27, 2022
पटना: एक निजी फाइनेंस कंपनी सैकड़ों लोगों का 25 करोड़ रुपए का चूना लगाकर फरार हो गई। माई तारा माइक्रोक्रेडिट प्राइवेट लिमिटेड पर आरोप है कि उसने बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब जैसे राज्यों के सैकड़ों ग्राहकों के तकरीबन 25 करोड़ रुपये लेकर बिहार से फरार हो गई। विभिन्न राज्यों से पहुंचे लोगों ने गर्दनीबाग थाने में कंपनी के 4 अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है।
पीड़ितों ने एसएसपी से मिल कर मदद की गुहार लगाई है। एसएसपी ने सभी को न्याय का भरोसा दिया है। बता दे कि पुलिस ने कंपनी के पटना स्थित कार्यालय को सीलकर दिया और वहां से लैपटाप समेत कई चीजें जब्त की हैं।
आपको बता दे कि माई तारा माइक्रोक्रेडिट प्राइवेट लिमिटेड पिछले कई महीने से पटना में बैंकिंग का काम कर रही थी और इसका दफ्तर अनीसाबाद स्थित यूएफओ मॉल में था। जालसाजी को लेकर गर्दनीबाग थाने में 4 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। ये आरोपी समस्तीपुर के हसनपुर के रहनेवाले जितेंद्र कुमार यादव और धर्मेंद्र कुमार, पश्चिमी चंपारण की रहनेवाली सुजाता कुमारी और झारखंड के धनबाद की रहनेवाली निकहत जहां हैं। एफआईआर दर्ज होने के बाद कंपनी के सभी लोग फरार हैं। पुलिस उनकी तलाश में अलग-अलग जगहों पर छापेमारी कर रही है।
जालसाजों ने दिल्ली के रहने वाले रमेश कुमार, पंजाब निवासी जसपाल सिंह सहित अन्य लोगों के साथ ठगी की है। यह कंपनी डिस्ट्रब्यूटरों के माध्यम से सीएसपी देने का काम करती थी। अलग-अलग राज्यों में कंपनी ने डिस्ट्रिब्यूटर बना रखे थे। उन डिस्ट्रिब्यूटरों के जरिये दुकानों में सीएसपी यानी ग्राहक सेवा केंद्र का का काम किया जाता था। सर्विस लेने के लिए डिस्ट्रिब्यूटर कंपनी के खाते में रुपये जमा करते थे। जब कंपनी के खाते में एक साथ मोटी रकम आ गई तो मालिक सहित अन्य लोग फरार हो गए।

1 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.