शराब छापेमारी के लिए निकली टीम भी जाम में फंसी

जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना
Edited by: राकेश कुमार
27 दिसंबर 2022

भागलपुर : बिहार नगर निकाय चुनाव के लिए प्रचार का शोर सोमवार शाम 5 बजे से थम गया। लेकिन चुनावी मैदान में कूदे उम्मीदवार सोमवार को अपनी शक्ति प्रदर्शन करने में कोइ कसर नहीं छोड़े। सोमवार को सुबह से ही भागलपुर में रोड शो का दौर जारी रहा। वहीं, आम लोग दिनभर सड़क जाम की समस्या से जूझते नजर आए। शराब मामले में छापेमारी के लिए जा रही पुलिस की टीम भी इसी जाम में फंस गई।

रोड शो के जरिये शक्ति प्रदर्शन : भागलपुर में सोमवार को चुनाव का शोर थमने के बाद चुनावी प्रत्याशी एवं उनके समर्थक जोड़ घटाव की राजनीति में व्यस्त नजर आए। अब आज मंगलवार को सभी उम्मीदवार डोर टू डोर कैंपेन करेंगे। वहीं सोमवार को अधिकतर उम्मीदवारों ने अपना शक्ति प्रदर्शन रोड शो के जरिये किया। मेयर-डिप्टी मेयर और वार्ड पार्षद पद के लिए खड़े उम्मीदवार सड़कों पर अपने समर्थकों के साथ उतरे। कई उम्मीदवारों के साथ समर्थकों का हुजूम भी था। इस दौरान पूरे शहर में कई जगहों पर सड़क जाम से लोग परेशान रहे।

छापेमारी दल भी जाम में फंसी : बिहार में शराब मामले को लेकर रोजाना कार्रवाई की जा रही है। सोमवार को भागलपुर के करोड़ी बाजार में शराब के लिए छापेमारी की गई। इस दौरान छापेमारी के लिए निकली टीम भी जाम के जाल में उलझ गई। कई जगहों पर जवानों को जाम में फंसना पड़ गया। वो बाइक पर बैठकर आगे निकलने की जद्दोजहद में दिखे।

भागलपुर नगर निगम के लिए भी मतदान : गौरतलब है कि बुधवार यानि 28 दिसंबर को बिहार में नगर निकाय चुनाव के आखिरी चरण को लेकर मतदान होना है। इस दौरान भागलपुर नगर निगम के लिए भी मतदान होंगे। शहर की सीट मेयर अतिपिछड़ा (महिला) के लिए आरक्षित है,जबकि डिप्टी मेयर सीट भी अतिपिछड़ा के लिए आरक्षित किया गया है। इस सीट पर जीत के लिए उम्मीदवारों के बीच घमासान मचा हुआ है।

अब डोर टू डोर कैंपेन : निकाय चुनाव के मैदान में उतरे उम्मीदवार अब डोर टू डोर कैंपेन के जरिये आखिरी दिन अपनी पूरी ताकत झोंकेंगे। इससे पहले सोमवार को चुनाव प्रचार के शोर पर स्टॉप लग गया। जिसे लेकर रोड शो के जरिये उम्मीदवार अपनी ताकत दिखाने सड़क पर उतरे हुए थे।

 189 total views,  3 views today