पीड़ितों के लिये यह मांगने वाले भागलपुर के आंदोलनकारी आखिर कहां सो गए हैं, शहर में हो रही है चर्चा

जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना
Edited by: राकेश कुमार
www.janpathnews.com
17 नवम्बर 2022

भागलपुर : कोलकाता के बिधाननगर पुलिस के राजरहाट थाना क्षेत्र स्थित वेदिक विलेज रिसॉर्ट में बीते दिनों एक युवती से सामूहिक दुष्कर्म मामले में जांच अब तेज होती जा रही है। भागलपुर जिले के लड़कों के द्वारा एक बर्थडे पार्टी में युवती को नशा खिलाकर अचेत करने और उसके बाद सामूहिक दुष्कर्म करने के मामले में जांच अब ड्रग्स एंगल पर भी शुरू हो चुकी है। वहीं, पुख्ता सबूत मिलने के बाद अब उस दिशा में भी कार्रवाई शुरू होने वाली है।

ड्रग्स उपयोग के पुख्ता प्रमाण मिले : कोलकाता के बिधाननगर पुलिस के राजरहाट थाना क्षेत्र स्थित वेदिक विलेज रिसॉर्ट में विगत 9 नवंबर की रात बर्थडे पार्टी के दौरान गैंगरेप की घटना हुई थी। इस मामले में भागलपुर के रहने वाले तीन युवक सहित पूर्णिया निवासी एक युवक की गिरफ्तारी की गई थी। उक्त मामले में पुलिस की जांच महज गैंगरेप पर सीमित नहीं है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मामले में कोलकाता पुलिस को बर्थडे पार्टी के दौरान ड्रग्स उपयोग के पुख्ता प्रमाण मिले हैं।

नारकोटिक्स धारा के तहत भी जांच शुरू : पुलिस अब सामूहिक दुष्कर्म के साथ-साथ नारकोटिक्स धारा के तहत भी मामले की जांच कर रही है। गिरफ्तार किये गये भागलपुर निवासी भाजपा के भागलपुर जिला अध्यक्ष नरेशचंद्र मिश्रा व समाजसेवी पप्पू मिश्रा का भतीजा योगेश मिश्रा समेत भागलपुर शहर स्थित खादिम शो रुम के पुत्र ऋषिक कुमार और माधव अग्रवाल के होमटाउन यानी भागलपुर के ही रहने वाले कुछ अन्य युवकों के भी बर्थडे पार्टी में शामिल होने की बात सामने आई है। जिसके बाद पुलिस उनके विरुद्ध सामूहिक दुष्कर्म के साथ-साथ नारकोटिक्स मामले में भी घेर सकती है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार अभियुक्तों और पीड़िता के लिये गये ब्लड सैंपल में ड्रग्स पाये जाने की बात सामने आई है।

पार्टी के दौरान धड़ल्ले से ड्रग्स व अन्य नशीले पदार्थों का भी उपयोग : अब यह स्पष्ट है कि पार्टी के दौरान धड़ल्ले से ड्रग्स व अन्य नशीले पदार्थों का भी उपयोग किया गया था। नारकोटिक्स मामला सामने आने के बाद गिरफ्तार अभियुक्तों सहित बर्थडे पार्टी में शामिल अन्य लोगों की मुश्किलें बढ़ सकती है। कोलकाता पुलिस की ओर से मामले में अभी तक कुछ भी आधिकारिक तौर पर नहीं बताया गया है। गुप्त तरीके से कोलकाता पुलिस मामले की जांच कर रही है। बहरहाल इन बड़े घरानों के लोग अपने इन बिगड़ैल बेटों की गिरफ्तारी को लेकर भले ही कुछ बोलने से परहेज कर रहे हों, लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इन बड़े घराने के लोगों ने अपने बिगड़ैल बेटों को मुक्त कराने को लेकर धन-बल और छल का उपयोग करने में कोई कसर बाकि नहीं छोड़ रहे। वहीं, बात-बात पर होने वाले आन्दोलित इन शहरवासियों ने भी सामूहिक बलात्कार की उस पीड़ित युवती के लिए चुप्पी साध रखी है। इसकी भी चर्चा शहर के हर चौक चौराहों पर होने लगी है कि निर्भया कांड एसिड कांड ऐसे दर्जनों पीड़ितों के लिये न्याय मांगने वाले आंदोलनकारी आखिर आज कहां सो गए हैं ?

 517 total views,  3 views today