डीपीओ बोले-यह एनजीओ के खिलाफ साजिश

जनपथ न्यूज़ डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना
Edited by: राकेश कुमार
14 अप्रैल 2023

भागलपुर : जिले के सरकारी स्कूलाें में कुछ दिनाें तक बंद रहने के बाद एक बार फिर मिड डे मील में कीड़ा मिलने और खराब खाने के मामले सामने आने लगे हैं। पिछले 2 दिन में बारी-बारी से 3 स्कूलाें में चावल और खिचड़ी में कीड़े मिले हैं। गुरुवार काे शहरी क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय क्लबगंज में कीड़ा मिला ताे खरीक के मिडिल स्कूल अंभो में खराब खाना मिलने का आराेप लगाकर छात्राें व अभिभावकाें ने हंगामा किया। प्राथमिक विद्यालय क्लबगंज की प्रधानाध्यापक सुनयना कुमारी ने कहा कि उन्हाेंने मामले की लिखित जानकारी प्रधानमंत्री पोषण योजना के डीपीओ आनंद विजय को दी है।

दूसरी तरफ डीपीओ आनंद विजय ने कहा कि यह एमडीएम तैयार करने वाली एजेंसी के खिलाफ साजिश है। उन्हाेंने कहा कि मैं आधिकारिक रूप से ताे नहीं बता सकता, पर ये साेचने की बात है कि इतने स्कूलाें में से एक या दाे स्कूलाें में ही कीड़े क्याें मिल रहे हैं। भाेजन ब्वाॅयलर में 1400 डिग्री सेंटीग्रेड पर बनता है। कीड़ा या छिपकली रहे भी ताे बचेगा क्या? खाना बनकर गाड़ी पर रखे जाते समय ब्लाॅक रिसाेर्स पर्सन निरीक्षण करते हैं। खरीक का मामला आया ताे हेडमास्टर से पूछा गया कि क्या उन्हाेंने भाेजन चखा था, ताे कहने लगे कि नहीं।

*क्लबगंज में इससे पहले भी भाेजन में मिल चुका है कीड़ा*: गौरतलब हो कि बुधवार काे ही प्राथमिक विद्यालय क्लबगंज में एक बच्चे ने खिचड़ी में कीड़ा निकलने की शिकायत की थी। इसके बाद बाकी बच्चे भी खाना छोड़कर उठ गए। यहां एनजीओ बाल विकास सेवा संस्थान भाेजन पहुंचाती है। विद्यालय प्रशासन ने मामले की सूचना पोषण योजना प्रखंड साधन सेवी मो. एहसान और विद्यालय अवर निरीक्षक नगर निगम पूर्वी क्षेत्र मो. शमी अहमद को दी। कीड़ा निकलने की सूचना पाकर आसपास के लाेग स्कूल में जमा हाे गए। इस स्कूल में एनजीओ के भोजन में पहले भी कीड़ा निकलने की शिकायत हुई थी।

दूसरी ओर खरीक के मिडिल स्कूल अंभो में छात्राें और अभिभावकाें ने घटिया एमडीएम मिलने की शिकायत कर हंगामा कर दिया। स्कूल पहुंचे सीओ निशांत कुमार ने छात्रों और ग्रामीणों को समझाकर शांत कराया। स्कूल के छात्रों ने सीओ से शिकायत की कि दाल पतली थी। सब्जी में केवल आलू था। वह भी अधपका। ग्रामीणों ने सीओ को बताया कि जब से एमडीएम का कार्य एनजीओ को दिया गया है, तब से समय और मेन्यू के अनुसार बच्चों को भोजन नहीं मिल रहा है। स्कूल की समिति की अध्यक्ष और वार्ड सदस्य सरिता देवी ने बीईओ को आवेदन भी दिया है।

*रंगरा में 30 बच्चाें के बीमार पड़ने की घटना से नहीं ली सीख*: रंगरा में 30 बच्चाें के बीमार पड़ने की घटना के बाद शिक्षा विभाग ने जिले के सभी सरकारी स्कूलों को मिड डे मील को लेकर सावधानी बरतने को कहा था। बीईओ को स्कूलों से संपर्क कर एमडीएम में सफाई रखने को कहा था। रसोई में अंधेरा नहीं होने, खाना ढंककर रखने, परोसते समय बर्तनों को साफ करने, पहले प्रधानाध्यापकाें काे खुद खाकर गुणवत्ता परखने के निर्देश दिए गए थे। रसाेइयाें सहित हेडमास्टर और वरीय शिक्षकाें काे उन्मुखी कार्यक्रम के तहत प्रशिक्षण दिया था। लेकिन इसके बाद इस दिशा में कोई पहल नहीं हुई।

*यहां है एनजीओ के जिम्मे भाेजन देने की व्यवस्था*

नगर निगम क्षेत्र, शहर से सटे ग्रामीण इलाके,नाथनगर, कहलगांव, इसके अलावा 318 अन्य स्कूल।

*जानिये, पहले कहां-कहां मिड डे मील में कीड़ा मिलने पर हुआ था हंगामा*

• बीते साेमवार काे मध्य विद्यालय सतघरा जगदीशपुर में एमडीएम के चावल में कीड़ा निकलने पर हंगामा हुआ था। प्रधानाध्यापक आनंद मुकेश ने कहा कि भोजन में कीड़ा निकलने के बाद खाना नष्ट कराया गया। उन्हाेंने यह शिकायत भी की कि एमडीएम की दाल और सब्जी में पानी की मात्रा काफी रहती है। शुक्रवार को दिए जाने वाले मौसमी फल भी सड़े-गले हाेते हैं।
• बुधवार काे 2 और साेमवार काे 1 स्कूल में मिड डे मील में कीड़ा मिलने या खराब खाने की शिकायत सहित 11 महीने में इस तरह के 6 मामले आ चुके हैं। 30 जून 2022 काे रंगरा के एक स्कूल में मिड डे मील में छिपकली मिलने के बाद 30 बच्चे बीमार हाे गए थे। 17 अगस्त, 2022 काे प्राथमिक विद्यालय मानिकपुर में मिड डे मील में कीड़ा मिला था। 18 अगस्त, 2022 काे भी प्राथमिक विद्यालय क्लबगंज में मिड डे मील में कीड़ा मिला था।

*जांच कर मांगी है रिपाेर्ट*

इस बाबत जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने बताया कि शहर के एक स्कूल में मिड डे मील में कीड़ा निकलने की जानकारी मिली है। मध्याह्न भाेजन याेजना के डीपीओ काे मामले की जांच कर रिपाेर्ट मांगी है।

 348 total views,  3 views today