जनपथ न्यूज डेस्क
Edited by: राकेश कुमार
26 मई 2022
पटना: बिहार राज्य भंडार निगम के तत्वावधान में स्थानीय अधिवेशन भवन में आयोजित कार्यक्रम में बिहार के उपमुख्यमंत्री श्री तारकिशोर प्रसाद ने ई-भंडारण के लिए वेब आधारित ऑनलाइन सॉफ्टवेयर व्यवस्था का शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि बिहार एक बार पुनः गौरवान्वित हुआ है। भंडार गृहों के संपूर्ण गतिविधियों को केंद्रीयकृत स्वचालित व्यवस्था के तहत संचालित करने की दिशा में बिहार ई-भंडारण लागू करने वाला देश का प्रथम राज्य बना है।
उन्होंने कहा कि ई-भंडारण की प्रबंधन व्यवस्था से भंडारित सामग्रियों की प्राप्ति, निर्गमन, भंडारण, रासायनिक उपचार, परिवहन हथालन, गुण नियंत्रण इत्यादि विभिन्न आवश्यक सुविधाएं, जानकारियां एवं मॉनिटरिंग की उत्कृष्ट व्यवस्था कायम होगी। साथ ही, ई-भंडारण से भंडारगृह की कार्यप्रणाली पारदर्शी एवं त्वरित निष्पादन सुनिश्चित हो सकेगा और पुरातन जटिल प्रक्रियाओं में सुधार होगा। उन्होंने कहा कि ई-भंडारण के शुभारंभ से बिहार राज्य भंडार निगम की कार्य व्यवस्था में सुधार के साथ आधुनिकीकरण की दिशा में मील का पत्थर साबित होगा।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय के अंत्योदय और एकात्मवाद के सिद्धांत पर चलते हुए भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने देश के अंतिम व्यक्ति तक सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंचाने की दिशा में संकल्पित प्रयास किए हैं।
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के माध्यम से कोरोना संक्रमण के दौरान गरीबों को मुफ्त अनाज की व्यवस्था सुनिश्चित की गई, जिससे मानवता की रक्षा हुई। बिहार राज्य भंडार निगम ने कोरोना काल के दौरान अनाजों के भंडारण में बड़ी भूमिका का निर्वाह किया, जिसके लिए निगम के कर्मचारी एवं पदाधिकारी बधाई के पात्र हैं।
उन्होंने कहा कि कोरोना काल में हमारे मेहनतकश किसानों और पशुपालकों के बदौलत हमने बिहार के विकास दर को कायम रखने में कामयाबी हासिल की है। ई-भंडारण के शुभारंभ होने से मेहनतकश किसानों के उत्पादों के सुव्यवस्थित भंडारण में सुविधा होगी, जिसका लाभ किसानों को मिलेगा।
उन्होंने कहा कि वर्ष 2005 से लगातार बिहार सरकार ने मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के कुशल नेतृत्व में बिहार में प्रत्येक क्षेत्रों में सभी वर्गों के लिए कल्याण के मार्ग प्रशस्त हुए हैं, जिससे राज्य विकासशील बिहार से विकसित बिहार की ओर तेजी से अग्रसर हुआ है।
उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि हम आजादी के 75 वर्ष के उपलक्ष में अमृत महोत्सव बना रहे हैं। हमारा प्रयास होना चाहिए कि आगामी 25 वर्षों के बाद जब हम आजादी का 100 वीं वर्षगाँठ मना रहे होंगे, उसके लिए एक बेहतर खाका तैयार करते हुए उस पर काम करना प्रारंभ हो।
इस अवसर पर श्रम संसाधन, सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री जीवेश कुमार ने महत्वपूर्ण विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम के दौरान सहकारिता विभाग के सचिव एवं अध्यक्ष बिहार राज्य भंडार निगम श्रीमती वंदना प्रेयसी, निबंधक सहयोग समितियां श्री वैद्यनाथ यादव, बिहार राज्य भंडार निगम के प्रबंध निदेशक श्री आशुतोष वर्मा, ग्रुप जनरल मैनेजर श्री एम. राव, श्री मुकेश यादव, नितिन मोंगा, अभिषेक आनंद सहित अन्य वरीय विभागीय पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

4 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.