जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना
Edited by: राकेश कुमार
23 दिसंबर 2022

भागलपुर : बिहार के नये डीजीपी आरएस भट्टी ने पुलिस महकमे की कमान थामते ही अपने सख्त तेवर दिखा दिये हैं। पहली बैठक में ही डीजीपी ने अपना कड़ा संदेश पुलिस पदाधिकारियों को दे दिया और अपराधियों पर हर हाल नकेल कसने का निर्देश दिया है। एसपी से लेकर थानेदार तक को केस सॉल्व करने के तरीके में बदलाव का निर्देश दिया। वहीं, डीजीपी के सख्त तेवर के बाद अब भागलपुर समेत अन्य जिलों में धूल फांक रही फाइलों के पन्ने पलटने का आदेश वरीय पुलिस अधिकारियों ने दे दिया है।

जिलों के पुलिस कप्तान एक्टिव : गुरुवार को बिहार के नये डीजीपी ने पहली बैठक की और अपने कड़े तेवर से सभी पुलिस पदाधिकारियों को रूबरू कराया। उधर, बुधवार को बैठक के बाद ही जिलों के पुलिस कप्तान एक्टिव हो गये थे और थानेदारों को निर्देश देने में जुट गये थे।

भागलपुर एसएसपी का निर्देश : बात अगर भागलपुर की करें तो एसएसपी बाबूराम ने भी पेंडिंग मामलों को जल्द निष्पादित करने का सख्ती से निर्देश दिया है और इस निर्देश के बाद से ही अधिकारीगण सक्रिय हो चुके हैं। विदित हो कि भागलपुर में कई मामले ऐसे हैं, जिसमें पुलिस अभी तक किसी तरह की कार्रवाई मजबूती से नहीं कर सकी है।

फाइलों के पन्ने फड़फड़ाने लगे : भागलपुर में हाल में ही कई ऐसी वारदातों को अंजाम दिया गया, जिसमें पुलिस के हाथ अभी तक खाली हैं। कई मामलों की फाइलें महीनों बाद भी धूल फांक रही है। वहीं, डीजीपी के कड़े तेवर के बाद अब गुरुवार से इन फाइलों के पन्ने फड़फड़ाने लगे हैं। पेंडिंग मामलों में अब पुलिस सक्रियता से काम करे। मिली जानकारी के अनुसार ऐसा निर्देश भी एसएसपी ने दिया है।

कटिहार में एसपी ने बैठक की : उधर कटिहार में भी एसपी ने बैठक की और शराब मामलों में कड़ी कार्रवाई करने के लिए निर्देश जारी किये। कटिहार जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक की संयुक्त अध्यक्षता में हुई इस बैठक में अवैध रूप से शराब के व्यापार एवं सेवन करने वाले व्यक्ति को चिन्हित कर गिरफ्तार करते हुए कानून कार्रवाई करने तथा छापेमारी में ज़ब्त शराब को समय समय पर विनिष्टिकरण करने का निर्देश दिया गया।

बैठक में पुलिस अधीक्षक ने निर्देश दिये : बैठक में पुलिस अधीक्षक ने संबंधित पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि यदि शराब से संबंधित सूचना प्राप्त होती है तो यथाशीघ्र आवश्यक कार्रवाई करते हुए शराब सेवन या व्यापार में संलिप्त व्यक्ति को गिरफ्तार कर कानून कार्रवाई किया जाय तथा जिला में शराबबंदी से जुड़े सभी सूचना तंत्र को एक्टिव मोड में रखने का निर्देश दिया गया।

 177 total views,  3 views today