जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना
Edited by: राकेश कुमार
www.janpathnews.com
27 नवम्बर 2022

भागलपुर : बिहार में अब ठंड का असर धीरे-धीरे तेज होने लगा है। अहले सुबह और रात का पारा अब तेजी से लुढ़कने लगा है। पछुआ हवा ने कनकनी भी बढ़ाई है। लोग रजाइ और कंबल के अंदर ही अब रात में दुबककर सोने लगे हैं। वहीं शनिवार को प्रदेश का सबसे अधिक ठंड वाला जिला गया रहा। जहां का तापमान 8.2 डिग्री रहा। 10 के नीचे केवल गया का ही न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया। वहीं, कुल सात जिलों के पारे में गिरावट दर्ज की गयी।

न्यूनतम तापमान में लगातार गिरावट : बिहार में न्यूनतम तापमान में लगातार गिरावट जारी है। दरअसल, पर्वतीय प्रदेशों से आ रही ठंड और शुष्क हवा के कारण पारा में ये गिरावट देखी जा रही है। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, अगले 24 घंटे के अंदर तापमान में और गिरावट देखने को मिल सकती है।

गया में सबसे अधिक ठंड : पूरे बिहार में ठंड का असर और अधिक होने के आसार हैं। बात शनिवार की करें तो गया सबसे अधिक सर्द रहा। इससे पहले भागलपुर का सबौर सबसे ठंडा क्षेत्र बना था। गया का तापमान 8.2 डिग्री रहा। शनिवार सुबह ही पारा यहां दो डिग्री नीचे गिरा।

जानें इन जिलों का तापमान :
गया समेत सारण, अररिया के फारबिसगंज, नवादा, शेखपुरा, रोहतास व बांका के न्यूनतम तापमान में आंशिक गिरावट आई है। पटना समेत अंगप्रदेश व सीमांचल क्षेत्र में ठंड का असर बढ़ता-घटता रहा है। भागलपुर, पूर्णिया, कटिहार, सुपौल, सहरसा के अलावे औरंगाबाद, पूर्वी चंपारण, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी , बेगूसराय, खगड़िया के भी न्यूनतम तापमान में थोड़ी वृद्धि देखी गयी। शनिवार को पटना का न्यूनतम तापमान 12.2 डिग्री रहा।

पछुआ हवा के कारण बढ़ेगी ठंड : मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, अभी प्रदेश में पछुआ हवा का प्रवाह जारी रहेगा। इस वजह से अगले 5 दिनों तक मौसम शुष्क ही बना रहेगा। वहीं, एक हफ्ते बाद से प्रदेश में कोहरे का कहर बढ़ सकता है। रेलवे की ओर से भी एहतियातन कई ट्रेनों को रद्द किया गया है, जबकि कई ट्रेनों के फेरे घटाए गये हैं।

 213 total views,  3 views today