अब 2025 में तेजस्वी की ताजपोशी को बेकरार क्यों दिख रहे नीतीश?

जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना
Edited by: राकेश कुमार
www.Janpathnews.com
14 दिसंबर 2022

भागलपुर : जान लीजिए…आज चुनाव प्रचार का आखिरी दिन है। परसों चुनाव है…और यह मेरा अंतिम चुनाव है। अंत भला तो सब भला।’ पूर्णिया के धमदाहा में लेसी के लिए चुनावी सभा में नीतीश कुमार ने 5 नवंबर 2020 को ये बातें कही थी। तब उनको लालू यादव के सियासी वारिस तेजस्वी यादव से कड़ी चुनौती मिल रही थी। वक्त बदला और नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव को अपने साथ कर लिया। बीजेपी के साथ भी नीतीश कुमार मुख्यमंत्री थे और तेजस्वी ये साथ भी नीतीश कुमार ही मुख्यमंत्री हैं। मगर दो साल पहले धमदाहा में मंच से बोली बात सच साबित होती दिख रही है। ‘अंतिम चुनाव’ और ‘अंत भला तो सब भला’ दोनों ही बातें फिलहाल सच होती दिख रही है। नीतीश कुमार ने 2025 के लिए तेजस्वी यादव की ताजपोशी अभी से ही कर दी।

*2025 में तेजस्वी के नेतृत्व में चुनाव- नीतीश*

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दो बातें बड़े ही साफगोई से कही। उन्होंने कहा कि मुझे पीएम बनने की कोई इच्छा नहीं है और तेजस्वी यादव के नेतृत्व में 2025 विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने कहा है कि 2025 का विधानसभा चुनाव उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की अगुवाई में होगा। महागठबंधन की बैठक के बाद सीएम ने कहा कि मैं पीएम पद का उम्मीदवार नहीं हूं। सब बीजेपी को हटाना चाहते हैं। हमलोग भी इसी कोशिश में लगे हैं। अब आने वाला चुनाव तेजस्वी की अगुवाई में होगा। एनबीटी ऑनलाइन से बातचीत में आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने सोमवार को कहा था कि नीतीश कुमार पीएम मटेरियल हैं। अपनी बात के समर्थन में कई तर्क दिए थे।

*2024 में प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार नहीं’*

सीएम नीतीश ने पीएम उम्मीदवारी की अटकलों पर खुद ही विराम लगा दिया। उन्होंने कहा है कि मैं प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार नहीं हूं। हम सिर्फ बीजेपी को हटाना चाहते हैं। वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साफ कर दिया कि अब 2025 का विधानसभा चुनाव उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की अगुवाई में होगा। अब सब तेजस्वी यादव को ही देखना है। मैंने बहुत काम किया। अब तेजस्वी यादव की बारी है। ये कोई पहली बार नीतीश ने ये बातें नहीं कही है। इससे पहले भी उन्होंने (नीतीश) कई बार ये बयान दिया है कि तेजस्वी यादव को आगे बढ़ाना है।

*महागठबंधन की बैठक नीतीश का बड़ा ऐलान*

दरअसल, सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में महागठबंधन की बैठक विधानसभा के सेंट्रल हॉल में हुई। जिसमें सदन की कार्यवाही को लेकर दिशा निर्देश जारी किया गया। सीएम ने महागठबंधन के सभी सदस्यों को मौजूद रहने का निर्देश दिया था। मीटिंग में जदयू, राजद, कांग्रेस, लेफ्ट सहित सभी पार्टियों के विधायकों और एमएलसी ने भाग लिया। बैठक के बाद नीतीश कुमार ने साफ तौर पर कहा कि 2025 विधानसभा का चुनाव उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के नेतृत्व में लड़ा जाएगा।

*तेजस्वी यादव को आगे करना है- नीतीश*

महागठबंधन की बैठक के बाद नीतीश कुमार ने बड़ा ऐलान कर दिया। उन्होंने कहा कि 2025 का विधानसभा चुनाव तेजस्वी यादव के नेतृत्व में लड़ा जाएगा। 2025 के विधानसभा चुनाव में तेजस्वी यादव को आगे करना है। अब तेजस्वी की अगुवाई में 2025 का विधानसभा चुनाव लड़ना है। सोमवार को भी नालंदा के रहुई में दंत चिकित्सा हॉस्पिटल का उद्घाटन के मौके पर सीएम नीतीश ने तेजस्वी यादव को और आगे बढ़ाने का संकल्प लिया था। नीतीश कुमार ने कहा कि हमारे तेजस्वी जी हैं। इनको हम बिल्कुल आगे बढ़ा रहे हैं। जितना करना था कर दिए, इनको और आगे करना है।

*2005 से बिहार की सत्ता पर काबिज नीतीश*

नीतीश कुमार ने साल 1977 मेंअपना पहला चुनाव नालंदा के हरनौत से लड़ा था। यहां से नीतीश कुमार चार बार चुनाव लड़े। जिसमें उन्हें 1977 और 1980 में हार मिली, जबकि 1985 और 1995 के चुनाव में वो विजयी रहे। नीतीश कुमार ने साल 2004 मेंअपना आखिरी चुनाव लड़ा था, जिसमें उन्हें नालंदा से जीत हासिल हुई थी। उसके बाद से नीतीश कुमार ने कोई चुनाव नहीं लड़ा, नीतीश कुमार ने साल 1972 में बिहार इंजीनियरिंग कॉलेज से पढ़ाई की। उन्होंने कुछ समय तक बिहार स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड में नौकरी भी की, लेकिन जयप्रकाश नारायण, राम मनोहर लोहिया जैसे नेताओं के संपर्क में आने के बाद नीतीश कुमार राजनीति में आ गए। केंद्र में कई अहम मंत्रालय संभालने वाले नीतीश कुमार 2005 से बिहार की सत्ता पर काबिज हैं।

 168 total views,  3 views today