जनपथ न्यूज डेस्क

Reported by: जितेन्द्र कुमार सिन्हा
Edited by: राकेश कुमार
16 अक्टूबर 2022

पटना: जद(यू) के राष्ट्रीय सचिव राजीव रंजन प्रसाद ने कहा है कि उद्योगों को स्थापित करने के लिए बिहार में बेहतर माहौल मौजूद है। राज्य सरकार का फोकस हमेशा से, बिहार का समग्र औद्योगिक विकास करने पर रहा है। मुख्यमंत्री नीतीशकुमार ने उद्योगों की स्थापना करने के साथ ही छोटे-छोटे उद्योगों की चिंता भी की है। उन्होंने कहा कि बिहार सरकार ने हर किसी के लिए कुछ न कुछ किया है। इसी का परिणाम है कि बिहार में उद्योग के लिए एक बेहतर माहौल बन पाया है।

श्री प्रसाद ने कहा है कि देश की कई बड़ी कंपनियां बिहार में निवेश की इच्छा जाहिर कर चुकी हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 15 अप्रैल 2022 को बेगुसराय जिले के बरौनी प्रखंड के असुरारी हवासपुर में 550 करोड़ रुपये से निर्मित पेप्सी बॉटलिंग प्लांट का उद्घाटन किया था। उन्होंने कहा कि बिहार में एक साल में पेप्सिको समेत 87 औद्योगिक इकाईयां खुली हैं। यहां उत्पादन का ट्रायल रन या उत्पादन शुरू हो चुका है।

श्री प्रसाद ने बताया कि बिहार में औद्योगिकीकरण की ललक इतनी तेज थी कि कोरोना महामारी के प्रकोप के बावजूद ये पॉलिसी अत्यंत सफल रही। बिहार की इथेनॉल उत्पादन प्रोत्साहन नीति-2021 के तहत 30,427 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव आए हैं। वहीं, बिहार स्थित 17 इथेनॉल उत्पादन ईकाईयों ने 36 करोड़ लीटर सालाना इथेनॉल आपूर्ति का करार हाल ही में सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियों के साथ किया है।

उन्होंने कहा है कि आरा में बने ईथेनॉल उत्पादन प्लांट की उत्पादन की क्षमता चार लाख किलो लीटर प्रतिदिन है, जो इसे देश की सबसे ज्यादा ईथेनॉल उत्पादन क्षमता वाली ईकाईयों के समकक्ष खड़ा करता है। इसके साथ ही मेगा टेक्सटाइल पार्क के लिए प्रारंभिक परियोजना के एक प्रस्ताव को भी वस्त्र मंत्रालय को सौंपा है। मेगा टेक्सटाइल पार्क के लिए जमीन चिह्नित हुई है।

श्री प्रसाद ने कहा कि इसके लिए सरकार ने पश्चिमी चंपारण के बगहा, मधुबनी और भितहां अंचल में 1719 एकड़ भूमि चिह्नित कर ली है। इसके साथ ही राजीव रंजन ने बताया कि मुजफ्फरपुर के मेगा फूड पार्क को 17 मार्च 2022 को अंतरमंत्रालयी अनुमोदन समिति ने स्वीकृति दे दी है। इसे मोतीपुर ब्लॉक में 143.96 एकड़ भूमि में स्थापित किया जाएगा।

उन्होंने कहा है कि बिहार में स्टार्टअप्स को बढ़ावा देने के लिए एक बेहतरीन इकोसिस्टम तैयार किया जा रहा है। बिहार स्टार्ट अप नीति के तहत 185 स्टार्ट अप को लगभग 10 करोड़ रुपये की सहायता राशि उपलब्ध कराई गई है। राज्य में उद्यमियों की फौज तैयार करने के लिए मुख्यमंत्री उद्यमी योजना जैसी योजना पूरे देश में नहीं है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का फोकस पूरे बिहार में मौजूद औद्योगिक क्षेत्रों का विकास भी है।

श्री प्रसाद ने रविवार को पटना के दीघा हाट और राजा बाजार स्थित मछली गली में सदस्यता अभियान को सम्बोधित करते हुए कही।

उक्त अवसर पर दोनों शिविरों में राजेंद्र यादव, नागेंद्र कुमार, एजाज अहमद, इम्तियाज अहमद, शोभा देवी, नौशाद खान, कंचनमाला चौधरी, माधुरी पटेल, खुशबु कुमारी, सुनीता बिन्द, सुरैया अख्तर ,वंदना सिन्हा ,सरोज देवी, गुड़िया देवी, पियूष श्रीवास्तव, सुधीर पासवान, अरुण सिंह, पंकज प्रणव सिन्हा, प्रसून श्रीवास्तव सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

 

 96 total views,  3 views today