जनपथ न्यूज डेस्क/पटना

Reported by: जितेन्द्र कुमार सिन्हा
Edited by: राकेश कुमार
17 अक्तूबर 2022

पटना: जद(यू) के राष्ट्रीय सचिव राजीव रंजन प्रसाद ने बिहार में शराब बंदी एवं गैर भाजपा शासित राज्यों की आबकारी नीति को लेकर बीजेपी नेताओं के राजनीति से प्रेरित बयानों को बेशर्मी की पराकाष्ठा बताते हुए कहा है कि उनके आदर्श गुजरात मॉडल में हर मिनट 11 शराब की बोतलें जब्त की जा रहीं हैं।पिछले एक वर्ष में 215 करोड़ रूपए से ज्यादा की विदेशी शराब पकड़ी गई है, वहीं गुजरात की शराबबंदी कानून में दी गयी कई रियायतों के बावजूद लोग जहरीली शराब पीकर मौत के शिकार हुए हैं।

उन्होंने कहा की मादक पदार्थों का अभयारण्य बने गुजरात में पिछले एक वर्ष में एक ही बंदरगाह मुंद्रा पोर्ट से तीन किश्तों में अर्थात सितम्बर 2021 को 300 kg मूल्य 21 हजार करोड़ रूपए के ड्रग्स, 22 मई 2022 को 56 kg ड्रग्स मूल्य 500 करोड़ रूपए एवं जुलाई 22 को 75 kg नशीली दवाएं मूल्य 375 करोड़ रूपए की बरामदगी हुई।

श्री प्रसाद ने पूछा है कि शराब एवं ड्रग्स माफिया पर कठोर कार्रवाई से कौन रोक रहा है, इसका जबाब बीजेपी नेताओं को देना चाहिए क्योकि बरामदगी के भयावह आंकड़े बताते हैं कि गुजरात मादक पदार्थों की जकड़ में आ चुका है और नौजवान इसके शिकार हो रहे हैं। यहाँ तक कि एक चर्चित अभिनेता की गुजरात में शराब एवं ड्रग्स के कारोबार के बल पर स्थापित समानांतर अर्थ व्यवस्था पर बनी फिल्म ने खूब सुर्खियां बटोरी हैं।

उन्होंने भाजपा और शराब के गहरे रिश्तों पर प्रहार करते हुए कहा है कि उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश एवं कर्णाटक की सरकारें शराब के मद में सर्वाधिक राजस्व की उगाही कर उन राज्यों की जनता के हलक से निवाले छीन रही हैं।

युक्त बातें पटना स्थित कुर्जी में सोमवार को जद (यू) की सदस्यता अभियान को सम्बोधित करते हुए कही।

उक्त अवसर पर राजेंद्र यादव, नागेंद्र कुमार, एज़ाज अहमद , इम्तियाज अहमद, वरुण कुमार सिंह, उदय यादव, अभय पटेल, शोभा देवी, नौशाद खान, कंचनमाला चौधरी, माधुरी पटेल, खुशबु कुमारी, सुनीता बिन्द, सुरैया अख्तर, वंदना सिन्हा, सरोज देवी, गुड़िया देवी, पियूष श्रीवास्तव, सुधीर पासवान, अरुण सिंह, विक्रम यादव, मुन्ना केशरी, लोरेंस, प्रसून श्रीवास्तव सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

 230 total views,  3 views today