जनपथ न्यूज डेस्क
Reported by: गौतम सुमन गर्जना
Edited by: राकेश कुमार
21 जनवरी 2023

भागलपुर : विदेशी सैलानीगण गुरुवार को गंगाविलास क्रुज भागलपुर पहुंचे थे, इन सैलानियों ने रात को कहलगांव में विश्राम किया। वहीं, शुक्रवार की सुबह ये सैलानीगण विक्रमशिला विश्वविद्यालय घूमने पहुंचे, जहां उनका गर्मजोशी के साथ स्वागत किया गया। इससे पहले कहलगांव से सुबह 9 बजे क्रूज बटेश्वरस्थान के लिए खुला। क्रूज से उतरकर इन सैलानियों के विक्रमशिला तक जाने के लिए एक दर्जन से ज्यादा टोटो का इंतजाम किया गया था। बटेश्वरस्थान में स्वागत के बाद टोटो वाहन से वे सैलानीगण विक्रमशिला गए। इस दौरान बटेश्वरस्थान, विक्रमशिला, अंतीचक और ओरियफ में दंडाधिकारी के साथ पुलिस बल तैनात किये गये थे। विक्रमशिला और बटेश्वरस्थान का अवलोकन के बाद गंगाविलास के सैलानी राजमहल के लिए प्रस्थान कर गए।

गौरतलब हो कि इससे पहले गुरुवार को एम‍वी गंगा विलास क्रूज वाराणसी से डिब्रूगढ़ जाने के क्रम में गुरुवार को लगभग 11:00 बजे सुल्तानगंज की उत्तरवाहिनी गंगा के नमामि गंगे घाट पर पहुंचा था, जहां अधिकारियों सहित दर्जनों प्रशासनिक पदाधिकारी और भाजपा के नेताओं ने सैलानियों का भव्य स्वागत किया था।

इसके बाद नगर भ्रमण करते हुए इन सैलानियों का जत्था अजगवीनाथ मंदिर पहुंचा। सैलानियों ने बाबा अजगैवीनाथ का जलाभिषेक किया। पहाड़ी के चारों ओर कलाकृति को कैमरे में कैद कर इसे अलौकिक बताया। विदेशी सैलानी पीटर, राईमेंस, गाडसुरा ने भारत आने को लेकर कहा कि पहली बार वे भारत आए हैं। अंग प्रदेश के अजगैवीनाथ की पावन धरती पर आकर उन्हें बहुत खुशी मिली। यहां के लोग बहुत प्यारे हैं। वहीं, पहाड़ी पर बने कलाकृतियों को सैलानियों ने कैमरे में कैद किया।

*कोहरा के कारण कहलगांव में क्रूज ने डाला था लंगर*: गंगा विलास क्रूज ने शाम को कुहासा छा जाने के चलते कहलगांव में चारोंधाम घाट के सामने गंगा में लंगर डाला था। इस दौरान प्रशासन की ओर से सैलानियों की सुरक्षा का पुख्ता प्रबंध किया गया था।

 179 total views,  3 views today