जनपथ न्यूज़ :- झारखण्ड के देवघर में श्रावणी मेले के आयोजन की तैयारियां शुरू हो चुकी है. ये मेला इस बार 17 जुलाई से आरम्भ होगा. श्रावण माह का हर एक दिन बहुत शुभ माना जाता है. इस माह में आयोजित श्रावणी मेला सुल्तानगंज से देवघर की और प्रस्थान करता है. देवघर का अर्थ हीं है ” भगवन का घर” या जहाँ भगवन खुद वास करते हों. इस मेले की मान्यता हिन्दू पुराणों में सर्व मानी जाती है क्योंकि देवघर में बाबा बैद्यनाथ को जल अर्पण करने से माना जाता है मनुष्य की सारी कामनाएं पूर्ण होती हैं.
बिहार सरकार भी अपनी तरफ से कांवरियों को कोई दिक्कत न हो इसके प्रबंध में पूरी तरह से लगी हुई है. रास्तों में सारी सेवाएं सुचारू रूप से चले इसकी एक एक टीम तैयार कर ली गयी है. पुलिस की एक खास ट्रेनिंग का आयोजन कराया गया है जो बकायदा इस मेले के लिए तैयार रहेंगे. दर्शन करने वाले लोगों से कैसा व्यवहार दर्शाया जाना चाहिए, पंक्तियों को अनुसाशित तरीके के कैसे आगे बढ़ाया जाए एवं और सभी तरह की सुविधाओं का ध्यान कैसे रखा जाए. इसमें पुलिस कर्मियों को अपने स्वास्थ पर भी ध्यान रखने को कहा गया है.
ये मेला जितना श्रद्धा के नज़रिये से महत्वपूर्ण है उतना हीं आर्थिक दृष्टि से ये प्रदेश के लिए ज़रूरी है. कांवरिये जिस उत्साह से एवं श्रद्धा से यात्रा करते हैं उसी उत्साह से पूजा की सारी सामग्री खरीदते हैं. एक एक श्रद्धालु हज़ार रुपये की सामग्री खरीदता है जो पूजा में उपयोग होता है. तो ये कर्त्तव्य सरकार का भी है की इन सारों लोगों की किसी भी ज़रूरत का खयाल रखा जाए. सबसे ख़ुशी की बात है की अब से किसी भी VIP दर्शन का प्रावधान नहीं रखा गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.