जनपथ न्यूज़:- लोकसभा चुनाव के सातों चरण का मतदान खत्म हो गया है. पूरे देश में मतगणना 23 मई को होनी है. अब सभी पार्टियों की निगाहें 23 मई को वोटों की गिनती पर लगी हुई हैं. अब ये देखना होगा की पूरे देश की जनता किसे अपना मत देकर दिल्ली की कुर्सी पर बैठाना चाहती है. सभी टीवी चैनलों वाले के सर्वे में एनडीए को पूर्ण बहुमत मिलते दिख तो रहा है. लेकिन इसका फैसला 23 मई गुरुवार को होना है.
इधर बिहार की राज्य की 40 लोकसभा सीटें और नवादा व डिहरी विधानसभा उपचुनाव में पड़े मतों की गिनती गुरुवार को सुबह आठ बजे से राज्य के 34 मतगणना केंद्रो पर शुरू हो जाएगी. पटना समेत सात जिला मुख्यालयों में दो-दो संसदीय सीटों के मतों की गिनती की जाएगी. मतगणना के लिए करीब 17 हजार कर्मियों की डयूटी लगायी गई है. इनमें से कुछ को रिजर्व भी रखा गया है.
सबसे पहले सर्विस गिनती की जायेगी. राज्य में 1215 बूथों के वीवीपैट की पर्ची के मिलान के कारण परिणाम आने में देर होगी. इसके कारण नवनिर्वाचित सांसदों को प्रमाणपत्र भी शाम या देर रात तक प्राप्त हो सकेंगे. इसके पहले दोपहर दाे बजे तक चुनावी रुझान भी साफ हो जायेगा. राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एचआर श्रीनिवास ने बताया कि इस बार बड़ी संख्या में सर्विस वोट प्राप्त हुए हैं, इसलिए उनकी गिनती में पहले की तुलना में थोड़ा अधिक समय लग सकता है.
उन्होंने उम्मीद जतायी है कि दोपहर बाद आयोग अंतिम निर्णय तक पहुंचने लगेगा. चुनाव आयोग ने हर विधानसभा क्षेत्र के पांच-पांच बूथों की वीवीपैट की पर्चियों का मिलान इवीएम में हर प्रत्याशी को प्राप्त मतों से करने की व्यवस्था की है. पहली बार मतगणना की पारदर्शिता के लिए यह व्यवस्था की गयी है. अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने बताया कि राज्य के 40 लोकसभा क्षेत्रों में स्थित 243 विधानसभाओं के 1215 बूथों के वीवीपैट के पर्चियों का मिलान अनिवार्य रूप से किया जाना है.
त्येक विधानसभा के लिए एक टेबल बनाया जायेगा. एक टेबल पर कम-से-कम 45 कर्मी तैनात होंगे. सभी लोकसभा क्षेत्र में छह विधानसभा क्षेत्र आते हैं. इस हिसाब से एक लोकसभा सीट में मतों की गिनती के लिए करीब चार सौ कर्मियों की डयूटी लगायी गयी है. इनमें से कुछ को रिजर्व भी रखा गया है.
डिहरी व नवादा विधानसभा उपचुनाव का दोपहर तक आयेगा परिणाम
डिहरी और नवादा विधानसभा उपचुनाव के परिणाम के लिए दोनों विधानसभा क्षेत्रों से 10 और बूथों के वीवीपैट की पर्चियों का मिलान किया जायेगा. इसके कारण मतदान के परिणाम आने में विलंब होगा. उन्होंने बताया कि पहले सर्विस वोटरों की गिनती की जायेगी. उसके बाद हर लोकसभा के अंदर स्थित प्रति विधानसभा क्षेत्र की इवीएम से मतों की गिनती का परिणाम निकाला जायेगा.
वीएम से गिनती के बाद हर विधानसभा के पांच-पांच बूथों का लॉटरी से चुनाव किया जायेगा. उसके बाद चुने गये बूथों के वीवीपैट की पर्ची का मिलान वहां की इवीएम में डाले गये मतों से किया जायेगा. इसके बाद ही परिणाम की घोषणा होगा.
सीआइएसएफ के हवाले वज्रगृह की सुरक्षा
अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने बताया कि हर लोकसभा क्षेत्र के लिए स्थापित वज्रगृहों की तीन स्तरीय सुरक्षा दी गयी है. वज्रगृह के सबसे अंदर लेयर की सुरक्षा के लिए सीआइएसएफ को जिम्मेदारी दी गयी है. वज्रगृह के सबसे अंदर के हर गेट पर सुरक्षा के साथ सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं. दूसरे स्तर पर राज्य पुलिस की सुरक्षा दी गयी है.
अंतिम स्तर पर भी बिहार पुलिस या होमगार्ड की तैनाती की गयी है. उन्होंने बताया कि सीसीटीवी कैमराें की मॉनीटरिंग दूसरे लेयर में रखी गयी है. वहां पर प्रत्याशी या उनके एजेंट 24 घंटे मॉनीटर पर नजर रख सकते हैं. वज्रगृह की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए प्रतिदिन सुबह-शाम डीएम व एसपी वहां जाकर जांच करेंगे और वहां पर रखी लॉगबुक पर हस्ताक्षर करेंगे. उन्होंने बताया कि हर विधानसभा क्षेत्र के लिए बनाये गये हॉल के पहले से निर्धारित स्थान पर ही इवीएम को रखा गया है.
मतगणना समय की लिखित सूचना प्रत्याशी को भेजी गयी
सिंह ने बताया कि मतगणना के समय को लेकर हर प्रत्याशी को लिखित सूचना भेज दी गयी है. मतगणना आठ बजे से शुरू होगी. इसके एक या आधा घंटा पहले प्रत्याशियों को हॉल में उपस्थित होने की सूचना आरओ द्वारा दी जाती है. ऑब्जर्वर की उपस्थिति में सभी प्रत्याशियों के सामने आरओ इवीएम की सील को तोड़ेंगे. उसके बाद मतगणना शुरू होगी.
दोपहर के बाद मिलने लगेंगे रुझान
इवीएम से मतों की गिनती के बाद रुझान स्पष्ट होने लगेगा. स्पष्ट बढ़त प्राप्त करनेवाले प्रत्याशियों की जीत की तस्वीर साफ हो जायेगी. फिर भी बिना वीवीपैट की पर्ची के मिलान कराये वहां के परिणाम की घोषणा नहीं की जाएगी.
मोबाइल पर भी रुझान और रिजल्ट
चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव के परिणाम की जानकारी देने की सार्वजनिक व्यवस्था की है. मतदाता दो प्रकार से मतगणना के रुझान व परिणाम देख सकते हैं. एक तो चुनाव आयोग की आधिकारिक वेबसाइट पर. इस वेबसाइट पर परिणाम का यूआरएल दिया गया है.
इसके अलावा मोबाइल एप पर भी मतगणना की जानकारी मिलेगी. इसके लिए स्मार्ट फोन के प्ले स्टोर में जाकर ‘वोटर हेल्पलाइन’एप को डाउनलोड करना होगा. इस एप पर भी मतगणना की पूरी व विस्तृत जानकारी मिलेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.