जनपथ न्यूज़ समस्तीपुर. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय (पूसा) के दीक्षांत समारोह में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने कहा कि हमारे किसानों की हालत में सुधार आपकी सफलता है। किसानों की खुशहाली आपके प्रयासों की सफलता का मापदंड है।
राष्ट्रपति ने कहा कि पूसा कृषि विश्वविद्यालय का फसलों की उपज बढ़ाने में बहुत योगदान रहा है। यहां विकसित किए गए मक्का की प्रजाति से बिहार में उपज बढ़ी है। देश में जनसंख्या के अनुपात में कृषि योग्य जमीन की कमी है। आज जरूरत है ऐसे फसलों के किस्मों के विकास की जो कम पानी और कम जगह में अधिक पैदावार दे।
कृषि को आधुनिक बनाना होगा। केंद्र और राज्य सरकार किसानों के लिए कई योजनाएं चला रही हैं। ई कृषि मंडी से किसान अपनी उपज का उचित कीमत पा सकते हैं। नीम कोटेड यूरिया से किसानों का लाभ मिला है। राष्ट्रपति ने विश्वविद्यालय के छात्रों को स्वरोजगार के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि आप इसके लिए मुद्रा योजना का लाभ ले सकते हैं।
नीतीश ने कहा- बिहार में बढ़ी कृषि उपज 
इससे पहले छात्रों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार सरकार द्वारा कृषि क्षेत्र में किए गए कामों को गिनाया। नीतीश ने कहा कि बिहार में धान, गेहूं और मक्का जैसे फसलों की प्रति हेक्टेयर उपज पहले से दोगुणा हो गई है। जो राज्य पहले कृषि उत्पादकता में निचले पायदान पर था अब उसे बेहतर काम के लिए पुरस्कार मिल रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published.