जनपथ न्यूज़:- पटना. राजधानी पटना में रविवार सुबह मौसम का मिजाज बदल गया। तेज आंधी के साथ कई जगहों पर बारिश हुई है। तापमान में गिरावट से
लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिली है।
तेज आंधी की वजह से कई जगहों पर भारी पेड़ गिर गए जिससे सड़कों पर यातायात प्रभावित हुआ है। राजधानी पटना के अलावा आरा, गोपालगंज, सीवान, जहानाबाद, बक्सर, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, गया, हाजीपुर, सीवान में भी तेज आंधी के साथ हल्की बारिश हुई है।
हीट वेव से परेशान थे लोग
बिहार में 20 जून को मॉनसून ने दस्तक दे दिया था और 21 जून को पटना समेत पूरे बिहार को मॉनसून ने कवर कर लिया। 21 जून के बाद पटना और आसपास इलाकों में हल्की बारिश हुई पर धूप की तपिश में कमी नहीं आई। पुरवैया हवा चलने की वजह से उमस भरी गर्मी से लोग बेहाल थे। राजधानी समेत बिहार क अन्य शहरों का पारा बढ़ गया। शनिवार को पटना समेत बिहार के ज्यादातर हिस्से हीट वेव की चपेट में रहा। चालू मौसम में ऐसा पहली बार हुआ है कि मॉनसून के दस्तक देने के बाद भी हीट वेव रहा।
एक हफ्ते तक रुक-रुक कर होती रहेगी बारिश
मौसम विभाग का कहना है कि बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है। अगले एक हफ्ते तक रुक-रुक कर सभी जिलों में बारिश होती रहेगी।
बिहार में 41% बारिश में कमी
बिहार में मॉनसून के दस दिन देर से आने का असर दिखने लगा है। अब तक 154.8 एमएम बारिश होनी चाहिए थी पर 91.6 एमएम बारिश हुई। यानी सामान्य से 41 फीसदी कम। पटना में और बुरा हाल है। यहां 114.8 एमएम बारिश होनी चाहिए थी पर हुई मात्र 42.5 एमएम यानी 63 फीसदी कम। बिहार के सभी जिलों की बात करें तो दो जिले सुपौल और पश्चिमी चंपारण हैं, जहां बारिश सामान्य से अधिक हुई है। सुपौल में 7 तो पश्चिमी चंपारण में सामान्य से 44 प्रतिशत अधिक बारिश हुई। शेखपुरा में 93 फीसदी, औरंगाबाद में 90 प्रतिशत, मुंगेर में 84 प्रतिशत और रोहतास में 83 फीसदी बारिश कम हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.