जनपथ न्यूज़  बेगूसराय. पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा पति चंद्रशेखर वर्मा के साथ शनिवार को बेगूसराय के मंझौल कोर्ट में पेश हुईं। इस दौरान मंजू वर्मा ने मीडिया से बात की। उन्होंने पूछा कि मेरी गलती क्या है? क्यों पिछले चार माह से प्रताड़ित हो रही हूं?
मुझे क्यों कर रहे हैं प्रताड़ित?
मंजू वर्मा ने कहा कि मैं बिहार की जनता, मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री, विपक्ष के नेता, पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी और तमाम दल के नेताओं से पूछती हूं कि आखिर मेरी गलती क्या है? मुझे क्यों इस तरह से पिछले चार माह से प्रताड़ित किया जा रहा है। जब सबकी मांग थी कि सीबीआई से जांच हो तो मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले की जांच सीबीआई कर रही है। सीबीआई अपना काम कर रही है। दोषी को सजा भी मिल रही है। लेकिन मुझे क्यों इस मामले में प्रताड़ित किया जा रहा है? मेरी गलती क्या है? मुझे विश्वास है कि सीबीआई उचित जांच करेगी।
बालिका गृह मामला सामने आने पर देना पड़ा था इस्तीफा
बेगूसराय जिले के चेरियाबरियारपुर से विधायक मंजू वर्मा बिहार सरकार में समाज कल्याण मंत्री थी। टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज, मुंबई की ‘कोशिश’ टीम ने बिहार के बालिका गृहों का सोशल ऑडिट किया था और कई गड़बड़ियों को उजागर किया था। मुजफ्फरपुर में चल रहे शेल्टर होम में बच्चियों के साथ ज्यादती की जा रही थी। 34 लड़कियों के साथ रेप की पुष्टि हुई। इस शेल्टर होम को ब्रजेश ठाकुर चला रहा था। ब्रजेश ठाकुर के करीबी संबंध मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा से होने के आरोप लगे थे। मामला तूल पकड़ा तो मंजू वर्मा को मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था।
आर्म्स एक्ट में किया सरेंडर
चेरियाबरियारपुर स्थित मंजू वर्मा के घर पर पुलिस ने छापा मारा था। उसके घर से 50 कारतूस मिले थे। इसके बाद मंजू और उसके पति चंद्रशेखर पर आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया था। मंजू वर्मा और उसके पति काफी समय तक फरार रहे। सुप्रीम कोर्ट द्वारा फटकार लगाने पर बिहार पुलिस ने दबिश बढ़ाई तो पहले चंद्रशेखर वर्मा और बाद में मंजू वर्मा ने कोर्ट में सरेंडर किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.