जनपथ न्यूज़ :- पटना पुलिस के लिए सिरदर्द बने कुख्यात उज्ज्वल ने सोमवार को वह गोपनीय ढंग से अदालत पहुंच कर आत्मसमर्पण कर दिया. मालूम हो कि पटना के बाइपास पर पिछले साल तीन दिसंबर को कांस्टेबल मुकेश कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी थी. इस घटना के बाद एसटीएफ ने उज्ज्वल के साथी मुचकुंद को मुठभेड़ में मार गिराया था.
जानकारी के मुताबिक, पटना पुलिस के लिए सिरदर्द बना उज्ज्वल ने पुलिस की बढ़ती दबिश के कारण सोमवार को गोपनीय ढंग से अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया. जानीपुर थाने के रामपुर गांव निवासी कुख्यात उज्ज्वल ने मुचकुंद के साथ मिलकर पटना के बाइपास पर सिपाही मुकेश कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी थी. इसके बाद एसटीएफ ने उज्ज्वल के साथी मुचकुंद को मुठभेड़ में मार गिराया था. वहीं, घटना के बाद से उज्ज्वल फरार चल रहा था.

उज्ज्वल की गिरफ्तारी के लिए एसएसपी गरिमा मलिक ने एएसपी अशोक मिश्रा के नेतृत्व में एसआईटी गठित की थी. एसआईटी गठित किये जाने के बाद से एएसपी अशोक मिश्रा दबिश बनाना शुरू कर दिये. इसके बाद सोमवार की सुबह अदालत खुलने से पहले ही उज्ज्वल गोपनीय ढंग से अदालत पहुंचा और आत्मसमर्पण कर दिया. उज्ज्वल पर दोहरे हत्याकांड, सिपाही हत्याकांड सहित कारोबारियों से रंगदारी वसूली, गोलीबारी कर दहशत फैलाना जैसे कई आरोप हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.