जनपथ न्यूज़ पटना :- यूनिवर्सिटी के सेंट्रल लाइब्रेरी के सौ वर्ष पूरे होने पर आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का दर्द एक बार फिर से छलक गया। पुस्तकालय के शताब्दी वर्ष समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू के सामने अपना यह दर्द छिपा नहीं सके कि केंद्र सरकार में पटना यूनिवर्सिटी को सेंट्रल यूनिवर्सिटी का दर्जा नहीं दिया।
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार सरकार ने पटना यूनिवर्सिटी का गौरव वापस लाने के लिए हरसंभव प्रयास किया है। विश्वविद्यालय प्रशासन को सरकार ने पैसे की कोई कमी नहीं होने दी है लेकिन केंद्र सरकार अगर पटना विश्वविद्यालय को अपना लेती तो और बढ़िया हो जाता। अगर उपराष्ट्रपति चाहेंगे तो पीयू का सपना पूरा हो सकता है. सीएम नीतीश जब बोल रहे थे पीयू कुछ छात्रों ने पीयू को सेंट्रेल यूनिवर्सिटी का दर्जा देने की खड़े होकर मांग शुरू कर दी. इस पर सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि हम अपनी बात कह चुके हैं अब उपराष्ट्रपति इस पर विचार करेंगे.
आपको बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना विश्वविद्यालय को सेंट्रल यूनिवर्सिटी का दर्जा दिए जाने की मांग लंबे अरसे से कर रहे हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पटना विश्वविद्यालय पहुंचने पर भी मंच से सेंट्रल यूनिवर्सिटी का दर्जा दिए जाने की मांग रखी थी हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीएम नीतीश की मांग को पूरा नहीं किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.