“सरकार में भागीदारी नहीं, लेकिन NDA के साथ खड़े रहेंगे”

Breaking News ताजा खबरें राजनीति राज्य

जनपथ न्यूज़:- केंद्र में नई NDA सरकार के शपथ ग्रहण से ठीक पहले जदयू ने पार्टी से सिर्फ एक मंत्री बनाने का प्रस्ताव ठुकरा दिया। गुरुवार की शाम जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने साफ़ कर दिया कि वह केंद्र की नई सरकार में शामिल नहीं होंगे | उन्होंने यह भी कहा की हम NDA के साथ मजबूती से खड़े हैं। नीतीश कुमार शपथ ग्रहण समारोह में शामिल भी हुए। 16 लोकसभा सदस्यों के साथ जदयू बिहार में दूसरा बड़ा दल और NDA का तीसरा बड़ा सहयोगी दल है। करीब 15 साल बाद एक बार फिर कयास लगाई जा रही थी कि जदयू भी केंद्र सरकार का हिस्सा बनेगा, लेकिन दूसरी बार प्रधानमंत्री बन रहे नरेंद्र मोदी की सरकार में जदयू शामिल नहीं हुआ। जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार ने शपथ ग्रहण के कुछ समय पहले पार्टी के फैसले की जानकारी मीडिया से साझा की और उन्होंने कहा कि सरकार में हमने सांकेतिक भागीदारी नहीं निभाने की जानकारी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को दे दी है।

हमारी पार्टी इसके लिए तैयार नहीं है, इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हम NDA के साथ हैं। हम बिहार में एक साथ सरकार चला रहे हैं। हमलोगों के बीच कोई कड़वाहट या खटाश नहीं है। हम केंद्र सरकार के साथ भी पूरी तरह मजबूती से खड़े हैं, लेकिन भाजपा का वह प्रस्ताव मंजूर नहीं है, जिसमें जदयू को सांकेतिक भागीदारी के तौर पर एक मंत्री बनाने का प्रस्ताव दिया गया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष ने पटना फोन कर दिल्ली आने को कहा था। जब वह दिल्ली आये तो उनकी मुलाकात भी हुई। भाजपा के राट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की ओर से सांकेतिक भागीदारी का प्रस्ताव दिया गया। हमने कहा कि पार्टी इस मसले पर विचार करेगी। हमने अपनी पार्टी के सभी नेताओ से बातचीत की। सबकी यही राय थी कि जदयू को सांकेतिक भागीदारी की कोई जरूरत नहीं है।

कल सुबह जब अमित शाह का फोन आया तो हमने उन्हें अपने दल की राय से उनको अवगत करा दिया। उन्होंने कहा कि जदयू की कोई दिलचस्पी केंद्र सरकार में शामिल होने को लेकर नहीं है। जदयू अध्यक्ष ने कहा कि सरकार में शामिल नहीं होने का यह मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए कि जदयू नाराज है, इसका मतलब यह है की हम पूरी तरह मजबूती के साथ NDA में हैं। अटल बिहारी वाजपेयी की NDA की सरकार में जाॅर्ज फर्नांडीस, नीतीश कुमार और दिग्विजय सिंह शामिल हुए और मंत्री बने थे। नीतीश कुमार रेल मंत्री बने और जाॅर्ज को रक्षा और दिग्विजय सिंह को विदेश राज्यमंत्री का प्रभार मिला था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *