पटना में मेट्रो की परिकल्पना हुई साकार, इसी साल काम शुरू होगा, 2024 तक ट्रैक पर उतरेगी

पटना में मेट्रो की परिकल्पना हुई साकार, इसी साल काम शुरू होगा, 2024 तक ट्रैक पर उतरेगी

Uncategorized राज्य

फाइनल डीपीआर को मिली मंजूरी, पहले चरण में दो रूटों पर 16,960 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान

पटना. 2011 में की गई पटना मेट्रो की परिकल्पना साकार हो गई। इस पर इसी साल काम शुरू हो जाएगा। 2024 तक यह पटरी पर दौड़ने लगेगी। मंगलवार को मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली उच्चस्तरीय कमेटी ने मेट्रो के फाइनल डीपीआर को मंजूरी दे दी। मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बताया कि पटना की परिवहन व्यवस्था में नया आयाम जोड़ने वाली मेट्रो रेल परियोजना पर काम इसी साल शुरू होगा। पहले चरण में दो रूटों पर 16,960 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। पटना मेट्रो का निर्माण एसपीवी मॉडल पर होगा। डीपीआर को अब लोक वित्त समिति की मंजूरी के बाद कैबिनेट में भेजा जाएगा और कैबिनेट की हरी झंडी के बाद केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय को भेजा जाएगा। डीपीआर राइट्स ने तैयार किया है।

एनआईटी ने तैयार किया है प्लान:मेट्रो पॉलिसी के अनुसार एनआईटी पटना ने कॉम्प्रिहेंसिव मोबिलिटी प्लान और ऑल्टरनेटिव एनालिसिस प्लान तैयार किया है। इसमें यात्रियों की अनुमानित संख्या, निर्धारित रूट, स्टेशन, लागत, रख-रखाव, वित्तीय व पर्यावरण पर प्रभाव का अध्ययन किया है।

2011 में की गई थी मेट्रो की परिकल्पना:2011 में सरकार ने इसपर गंभीरता से विचार शुरू किया। वर्ष 2013 में डीपीआर के लिए राइट्स के साथ करार हुआ। राइट्स ने 2014 के अंत में डीपीआर तैयार कर विभाग को सौंप दिया। पिछले साल 23 दिसंबर को सीएम ने इस परियोजना को मंजूरी दी थी।

2 कॉरिडोर, 16,960 करोड़ खर्च

पहले चरण में 2 रूट

पर चलेगी मेट्रो ट्रेन

– पहला रूट दानापुर से सगुना मोड़, बेली रोड होते हुए पटना जंक्शन तक जाएगा।

– दूसरा रूट पटना जंक्शन से बैरिया में प्रस्तावित बस अड्‌डे तक जाएगा।

– 24 स्टेशन होंगे दोनों रूटों पर

– 12 स्टेशन अंडरग्राउड 12 जमीन पर

– 550 करोड़ प्रति किमी लागत आएगी, इसमें स्टेशन, सहित अन्य खर्च शामिल

ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर : दानापुर से मीठापुर तक विस्तार होगा। लंबाई 16.94 किमी होगी। इसमें से 5.29 किमी एलिवेटेड होंगे, जिसपर तीन स्टेशन होंगे। भूमिगत कॉरिडोर की लंबाई 11.21 किमी होगी, जिसपर पर नौ स्टेशन होंगे।

रूट : दानापुर, सगुना, आरपीएस मोड, रूकनपुरा, जगदेव पथ, राजाबाजार, जेडी वीमेंस कालेज, राजभवन, सचिवालय, हाईकोर्ट, इन्कम टैक्स गोलंबर, डाकबंगला, पटना जंक्शन और मीठापुर।

नॉर्थ साउथ कॉरिडोर : पटना जंक्शन से बैरिया में प्रस्तावित बस अड्‌डा तक जाएगा। लंबाई 14.45 किमी। 9.9 किमी एलिवेटेड, जिसपर 9 स्टेशन। भूमिगत की लं. 4.55 किमी, 3 स्टेशन होंगे।

रूट -1 : पहला कॉरिडोर : पटना जंक्शन, गांधी मैदान, कारगिल चौक, पीएमसीएच, पटना विश्वविद्यालय, राजेन्द्र नगर, एनएमसीएच, कुम्हरार, गांधी सेतु, ट्रांसपोर्ट नगर, बैरिया बस अड्डा।

रूट -2 : पटना जंक्शन से मीठापुर बाइपास, एतवारपुर तक।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *